युद्धपोत सिंधुरत्न दुर्घटनाग्रस्त, नौसेना ने मामले को छुपाया

Picture taken from Google images / used for representation purpose only
Picture taken from Google images / used for representation purpose only

लंबे समय तक व्यस्त होने के कारण मैं ईभारत पर कुछ लिख नहीं पाया | लेकिन आज आप लोगों के सामने एक नई जानकारी रखने जा रहा हूँ | कुछ दिनों पहले व्हाट्स एप्प के मीडिया ग्रुप्स में एक संदेश शेयर किया गया था | वो यह रहा :

“INS SindhuRatna met with an accident a few days back while it was on its way to Mumbai from Karwar. The ship was taken back to Carver and has now returned to Mumbai after being coloured to hide the visible damage. Since last 3 Months, there have been multiple accidents with Ships under Western Naval Command. However despite repeated attempts, Navy PRO Rahil Sinha did not comment on the issue.”

इस सन्देश में यह दावा किया गया है कि मुंबई से कारवार आते समय युद्धपोत सिंधुरत्न दुर्घटनाग्रस्त हो गया था | युद्धपोत को दुबारा कारवार ले जाया गया और इस तरह रंग लगाया गया कि उसे सिर्फ देखने से उसके दुर्घटनाग्रस्त होने का पता न चले | उसके बाद युद्धपोत को दुबारा मुंबई ले आया गया | नौसेना के जनसंपर्क अधिकारी से बार-बार पूछने पर भी उन्होंने इस विषय में कुछ नहीं कहा | न उन्होंने घटना को स्वीकार किया न उसे गलत बताया |

नौसेना की इस चुप्पी का क्या मतलब निकाला जाए ? पिछले कुछ महीनों में एक के बाद एक दुर्घटनाओं की खबर मिल रही है | देश की बहुमूल्य संपत्ति का नाश तो हो ही रहा है, देश की सुरक्षा में कितनी बड़ी सेंध लगी है, इसका कोई अंदाजा नहीं | पैसे के लालची और नाकारा नौसेना के अधिकारी हमारी नौसेना को दीमक बनकर कितना खोखला कर चुके हैं, इसका अंदाजा हम सिविलियन्स को लगना तो मुश्किल ही है | कोई युद्धपोत पलट कर गिर रहा है, किसी में आग लग रही है, किसी में पानी भर रहा है, बस यही सब हो रहा है | हमारी सरकार भी हाथ पर हाथ धरे बैठी है | ऐसे में मैं तो सिर्फ इतना कह सकता हूँ कि हमारी नौसेना का भगवान ही मालिक है |

पाठकों में से किसीको यदि युद्धपोत सिंधुरत्न के दुर्घटनाग्रस्त होने के सम्बन्ध में कोई जानकारी हो तो कृपया मुझे मेल द्वारा सूचित करें | Mail ID : [email protected] 

One thought to “युद्धपोत सिंधुरत्न दुर्घटनाग्रस्त, नौसेना ने मामले को छुपाया”

  1. Could you please send this news to defence ministry, home ministry and PMO office on a single email thread and ask for clarification on this and update them about this corruption.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *