“नंगी तस्वीरें माँगूँगा और नंगी तस्वीरें भेजूँगा, लेकिन सरकार को NRC डाक्यूमेंट्स नहीं दिखाऊँगा” — वामपंथी लेखक वरुण ग्रोवर

varun-grover

मेरे पिछले लेख में मैनें अश्लील स्टैंड अप कॉमेडी के महाविद्वान कुनाल कामरा जी के बारे में आप लोगों को बताया था | यदि आपने वो लेख न पढ़ा हो तो यह लिंक क्लिक करके पढ़ लें : ठरकीयों और चरित्रहीनों के परम मित्र कुनाल कामरा देंगे भारतीयों को लोकतंत्र और राजनीति का ज्ञान

आज मैं उसी क्षेत्र के एक और महाविद्वान के बारे में आप लोगों को बताने जा रहा हूँ | इन महाशय का नाम है वरुण ग्रोवर | ये भी AIB – आल इंडिया बकचोद उर्फ़ (Send Nudes ग्रुप) के सदस्य थे | वामपंथी विचारधारा के हैं | मोदी को गालियाँ देना इनका पसंदीदा शौक है | वामपंथी मीडिआ के आशीर्वाद से काफी लोकप्रिय भी हुए हैं | इनका ट्विटर देखेंगे तो पता चलेगा कि जोकर से राजनेता और समाजसेवी बनने की तरफ अग्रसर है | हर मामले में देशवासियों को ज्ञान देने में लगे हैं |

वरुण ग्रोवर जी ने अभी-अभी एक कविता लिखी है – “हम काग़ज़ नहीं दिखाएँगे।” कागज़ नहीं दिखाने से इनका तात्पर्य है सरकार द्वारा कराई जानेवाली NRC में यह अपने कानूनी कागज़ नहीं दिखाएँगे | सही बात है, दिखाएँगे भी कैसे ? इनको डर है कि कागज़ दिखाते ही इनका सही नाम लोगों को पता चल जाएगा | तो वरुण जी आपको डरने की कोई जरुरत नहीं | लोगों को पहले से मालूम है कि आपका असली नाम विश्वकर्मा है | अपने कॉलेज के समय से ही कन्याओं को तिलोत्तमा अप्सरा बनाकर आपने उनके साथ जो अश्लील हरकतें की थी, उसकी जानकारी #MeToo के दौरान सबके सामने आ गयी थी | फर्क सिर्फ इतना है कि आप वामपंथी मीडिया के प्यारे-दुलारे हो तो आपको कुछ भुगतना नहीं पड़ा और कन्या के आरोपों से ज्यादा आपकी सफाई समाचार पत्रों में छपी |

वैसे वरुण ग्रोवर जी को राजनीति, अर्थशास्त्र और समाजशास्त्र का बड़ा तगड़ा ज्ञान है | हर मामले में वो सरकार की ऐसी तैसी कर देते हैं | महाविद्वान शब्द भी वरुण जी के लिए छोटा है | स्त्रियों के शरीर के हर हिस्से के बारे में ऐसे-ऐसे जोक्स बनाते हैं कि अब क्या बताऊँ ! अभिनेत्री आयशा टाकिया पर इन्होनें जो अश्लील स्टैंड अप कॉमेडी किया था, उसे वामपंथिओं ने सर्वश्रेष्ठ स्टैंड अप कॉमेडी घोषित किया हुआ है |

बस एक ही कमी है वरुण जी में, जहाँ वो खुद काम करते हैं, वहाँ क्या सही गलत हो रहा है, इसका पता उनको नहीं चलता | AIB – आल इंडिया बकचोद उर्फ़ (Send Nudes ग्रुप) में कई साल काम किया | वहाँ उनके साथी, उनके बॉस लड़कियों से नंगी तस्वीरें माँगते रहे, उनके साथ अश्लील हरकतें करते रहे, पर वरुण जी को कुछ पता नहीं चला | उनके एक बॉस ने तो ट्विटर पर यह भी लिख दिया कि “छोटी बच्चियों को रेप में मजा आता है” | इतने सीधे-सच्चे आदमी है कि बेचारे यह बात भी नहीं पढ़ पाए | चुपचाप AIB – आल इंडिया बकचोद उर्फ़ (Send Nudes ग्रुप) में काम करते रहे, और पैसा कमाते रहे | हाँ जैसे ही #MeToo के मामले सामने आये, HIGH MORAL GROUND लेते हुए अपने सब साथियों को डाँट जरूर दिया | स्त्री सशक्तिकरण में ऐसा योगदान शायद ही किसी ने दिया हो !

वरुण ग्रोवर जी के व्यक्तित्व से हम सबको यह सीखने मिलता है कि स्त्रियों का शोषण, चरित्रहीनता यह सब छोटे-मोठे मुद्दे हैं | इन मामलों में पैसा कमाने के लिए हम चुप रह जाएँ तो चलेगा | लेकिन सरकार को NRC डाक्यूमेंट्स दिखाना मानवता के खिलाफ सबसे बड़ा अपराध है | इस मामले में चुप नहीं रह सकते | इसलिए वरुण ग्रोवर जी द्वारा दिए गए महान नारे – “नंगी तस्वीरें माँगूँगा और नंगी तस्वीरें भेजूँगा, लेकिन सरकार को NRC डाक्यूमेंट्स नहीं दिखाऊँगा” का मैं पूरा-पूरा समर्थन करता हूँ |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *