रिश्वतखोर पुलिस इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगांवकर ने गैरकानूनी पार्किंग कराने के लिए विद्यार्थियों के आने-जाने का रास्ता बंद कराया

Inspector Narendra Talegaonkar
इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगांवकर

वो कहावत है न “ जब पैदा हुई पुलिस तो खुश हुआ इब्लीस, अब हम भी साहिबे औलाद हुए | ” अर्थात जब पुलिस पैदा हुई तो शैतान खुश हुआ कि मेरा बेटा पैदा हो चुका है | मुंबई पुलिस के इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगांवकर पर यह कहावत बिलकुल सही बैठती है | तलेगांवकर फिलहाल ट्रैफिक डिपार्टमेंट में काम कर रहे हैं और वो गांधीनगर जंक्शन, लालबहादुर शास्त्री रोड, विक्रोली पश्चिम, मुंबई-८३ में स्थित बीट चौकी के इंचार्ज हैं |

पाठकों को पता ही होगा, सडकों पर जहाँ भी फ्लाईओवर बने होते हैं, उसके ठीक नीचे की जगह खाली पड़ी होती है | ऐसी जगहों पर कभी पार्किंग होने लगती है तो कभी अवैध निर्माण | कई बार आम लोग ही सड़क पार करने के लिए फ्लाईओवर के नीचे की जगह पसंद करते हैं क्योंकि फ्लाईओवर के अंतिम छोरों के नीचे की जगह खाली पड़ी होती है | जिससे वहाँ से सड़क पार करना आसान होता है |

इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगांवकर द्वारा तैयार कराये गए गैरकानूनी बैरिकेड
इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगांवकर द्वारा तैयार कराये गए गैरकानूनी बैरिकेड

गांधीनगर जंक्शन पर बने फ्लाईओवर के अंतिम छोर के एक तरह केंद्रीय विद्यालय है तो दूसरी तरह चंदन नगर | चंदन नगर से कई विद्यार्थी केंद्रीय विद्यालय जाते हैं और फ्लाईओवर के नीचे से ही सड़क पार करते हैं | वो जगह भी अभी तक खाली ही पड़ी थी | लेकिन पुलिस इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगाँवकर की बुरी नजर लंबे समय से उस जगह टिकी हुई थी | फ्लाईओवर के नीचे ज्यादातर जगहों पर उन्होंने गाड़ियों की गैरकानूनी पार्किंग कराकर खूब माल कमाया है | किसी भी दिन, किसी भी वक्त वहाँ जाओ तो सैकड़ों गाड़ियाँ खड़ी मिलेगी, कुछ पार्किंग की, तो कुछ भंगार होती हुई | यह सब ट्राफिक पुलिस की उस बीट चौकी के ठीक सामने है जिसके इंचार्ज इंस्पेक्टर तलेगाँवकर हैं | सिर्फ एक कोना बाकी रह गया था जहाँ से विद्यार्थी सड़क पार करते थे | तलेगाँवकर ने विद्यार्थियों का आना जाना रोकने के लिए वहाँ गैरकानूनी रूप से लोहे की शीट लगाकर बैरिकेड बनवा दिए | गैरकानूनी पार्किंग को तो वो हटवा नहीं सकते क्योंकि वहाँ से रिश्वत मिलती है, तो उन्होंने विद्यार्थियों पर ही अपना जोर दिखाया |

गैरकानूनी पार्किंग
गैरकानूनी पार्किंग

तलेगांवकर की इस हरकत से विद्यार्थी और उनके माँ-बाप परेशान | उन्हें अब गांधीनगर जंक्शन से सड़क पार करना पड़ रहा है जो काफी खतरनाक है | वहाँ गाड़ियों की आवाजाही कुछ ज्यादा ही है | इसलिए सब अभिभावक इकट्ठा होकर बीट चौकी गए और तलेगांवकर से माँग की कि बैरिकेड को हटा दिया जाये | तलेगांवकर ने उनकी बात मानना तो दूर, उलटे कुछ को अपनी बीट चौकी में बंद करा दिया | साथ में पुलिस में FIR कराने की धमकी भी दी | कई घंटे बंद रखने के बाद जब स्थानीय राजनेताओं का फ़ोन आने लगा तो उन्होंने अभिभावकों को जाने दिया |

इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगाँवकर की इस गुंडागर्दी से परेशान होकर कई अभिभावकों ने भाजपा कार्यकर्ता सुधीर सिंह से सहायता माँगी | सुधीर सिंह ने मामले की जानकारी स्थानीय सांसद मनोज कोटक को दी | साथ ही साथ उन्होंने तलेगाँवकर के भ्रष्टाचार और गुंडागर्दी की शिकायत मुंबई पुलिस कमिश्नर से की | इसके अलावा तलेगाँवकर द्वारा किये गए अवैध निर्माण को तोड़ने के लिए मनपा के S वार्ड में भी शिकायत दर्ज करा दी है | उम्मीद है उन्हें दोनों कार्यों में सफलता मिलेगी और चंदन नगर के विद्यार्थियों की असुविधा दूर होगी | लगता है इंस्पेक्टर नरेंद्र तलेगांवकर को उनके कुकर्मों की सजा मिलने का दिन आ गया है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *