डाकयार्ड कॉलोनी, कांजुर मार्ग के सिक्यूरिटी ऑफिसर चीमन लांबा ने किया ३००० रुपये का भ्रष्टाचार

dockyard-colony-kanjur-marg

काफी दिनों से पाठकों के लिए मैनें कुछ मजेदार लिखा नहीं | उस कसर को पूरी करने के लिए इस बार बढ़िया जानकारी लेकर आया हूँ | आप सब हमारे कॉलोनी के सिक्यूरिटी ऑफिसर चीमन लांबाजी को तो जानते ही होंगे |

अब आप पूछेंगे कि लांबा जैसा आलसी, निकम्मा और चरित्रहीन व्यक्ति दुबारा सिक्यूरिटी ऑफिसर कैसे बन गया ? तो इस बात को याद रखे वो एक्स नेवी है | सफ़ेद वर्दी वाला होने से उसके सारे पाप माफ़ हैं | वैसे तो तोरस्कर को सिक्यूरिटी ऑफिसर बनाकर भेजा गया है पर अभी तक उनको चार्ज नहीं मिला है | लांबा से चार्ज माँगने की बेचारे में हिम्मत भी नहीं | अपने एक्स नेवी होने की धौंस दिखाकर लांबा जी सिर्फ मोर्निंग शिफ्ट करते हैं और सिक्यूरिटी ऑफिसर बनकर बैठे रहते हैं | एक बार उनकी शिफ्ट ख़त्म हुई, उसके बाद कॉलोनी में आग भी लग जाए, वो फ़ोन नहीं उठाते |

अब लांबा जी का नया कारनामा सुनिए | कुछ महीनों पहले उन्होंने सुरक्षा कार्यालय में रंग लगवाया था | लांबा जी ने एक ठेकेदार पर दबाव बनाकर उससे मुफ्त में काम करवा लिया | उस ठेकेदार का नाम तो मैंने पता नहीं लगाया पर आर उसका कोई सुपरवाइजर है – काशीनाथ नाम का | १-२ दिन में ठेकेदार का नाम भी पता लगा लूँगा |

अब सुरक्षा कार्यालय में रंग तो लगा, वो भी बिना पैसे का, साथ ही उसका बिल भी बन गया | चीमन लांबा जी ने कांजुर मार्ग के ही किसी दूकान से ३००० रुपये का नकली बिल बनाकर कमांडर मुजावर के कार्यालय से पैसे भी पास करा लिए | तो इस तरह चिंदिचोरी में मुजावर को टक्कर देते हुए चीमन लांबा ने अपने लिए चाय-पानी का इंतजाम कर लिया | वैसे भी जब से कॉलोनी का महाठग गोपाल गया है, तब से लांबा जी के लिए कमाई मुश्किल हो गई थी |

मैं इसके लिए लांबा जी को दोष भी नहीं दूँगा | वो देख रहे हैं कि किस तरह हमारी कॉलोनी के एडमिरल सुपरिन्टेन्डेन्ट संजीव काले जी डंके की चोट पर कॉलोनी की इतनी बड़ी जमीन अपने मित्र किरण मोरे को तोहफे में दे रहे हैं | कमांडर मुजावर तो डकैत बन चुके हैं, फिर भी उनका कुछ नहीं होता | तो ३००० रुपये की चोरी से लांबा जी का क्या होगा | ऐश कीजिये लांबा जी – ऐश | आखिर पेशे से आप भी तो सफ़ेद डाकू ही थे |

One thought to “डाकयार्ड कॉलोनी, कांजुर मार्ग के सिक्यूरिटी ऑफिसर चीमन लांबा ने किया ३००० रुपये का भ्रष्टाचार”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *