युद्धपोत बेतवा की आग तथा नौसेना का एक और झूठ

ins-betwa
Picture taken from Google images and for representation purpose only.

युद्धपोत प्रलय में आग लगने की घटना के बाद मैनें एक लेख छापा था — युद्धपोत प्रलय में लगी आग और नौसेना का झूठ | उस लेख को पढ़कर आप लोग समझ गए होंगे कि किस तरह भारतीय नौसेना के कलंक और डाकयार्ड कॉलोनी कांजुर मार्ग के एडमिरल सुपरिन्टेन्डेन्ट संजीव काले जी
( Rear Admiral Sanjeev Kale / Admiral Superintendent Sanjeev Kale ) ने देशवासियों को गुमराह करने की कोशिश की | वो तो पूरे मामले को ही दबा जाते पर मामला किसी तरह प्रेस वालों तक पहुँच गया जिससे उनकी दाल नहीं गली | इसके बावजूद नौसेना के कुकर्मी अधिकारियों ने अब तक कोई सबक नहीं सीखा है | इसी तरह का एक और प्रयास उन्होंने अभी कुछ दिनों पहले किया |

ईभारत के ज्यादातर पाठक नेवल डाकयार्ड, मुंबई में काम करते हैं | आप सबको तो पता ही है कि चार दिन पहले सोमवार (३०/०१/२०१७) को युद्धपोत बेतवा में आग लगी थी | इस बार की दुर्घटना मामूली थी इसलिए कोई विशेष हानि नहीं हुई | दुर्घटनास्थल पर फायरब्रिगेड की गाडी और एम्बुलेंस भी बुलाई गयी थी | दुर्घटना के बाद जिस तरह की तत्परता दिखाई गई वो प्रशंसा के योग्य है किंतु बार-बार दुर्घटना हो क्यों रही है ? उसे रोकने के लिए समुचित कदम क्यों नहीं उठाये जा रहे हैं | कुछ हो न हो पर एक बात हमेशा होती है, और वो है मामले को दबाने की कोशिश | इस बार भी मामले को दबाने की कोशिश की गई | पर किसी तरह मीडिया वालों को खबर लग गई | व्हाट्स एप्प ग्रुप्स में नौसेना के जनसंपर्क अधिकारी राहुल सिन्हा से पूछा जाने लगा | इससे नौसेना जवाब देने को मजबूर हो गई | उनका जवाब पढ़िए :

Dear Sir / Madam,

No Section of INS Betwa has been on fire yesterday as is being reported in some sections of media.

INS Betwa is under major repairs which includes steel cutting and welding requiring high temperature work.

All precautions are being taken to ensure safety of men and material.

Regards

Commander Rahul Sinha
Chief PRO DEF, Mumbai

जवाब पढ़िए और नौसेना अधिकारियों के झूठ बोलने की हिम्मत की दाद दीजिये | पूरा का पूरा युद्धपोत प्रलय जल गया, उसे इन्होनें मामूली दुर्घटना बताया | और अब बेतवा में हुई दुर्घटना को पूरी तरह नकार ही दिया | मीडिया जनसंपर्क अधिकारी के दिए बयान को सच मानकर चलती है पर मुझे और ज्यादातर पाठकों को तो सच पता है | आप लोग समझ जाइए कि किस तरह ये सफ़ेद वर्दीधारी देश की सुरक्षा की जड़ें काट रहे हैं |

इसलिए मैं कहता हूँ कि आप लोग भी इनके विरुद्ध अपनी कलम चलाइये, आवाज उठाइये | नहीं तो ये रिश्वतखोर देश की सुरक्षा और आप डाकयार्ड कर्मचारियों की नौकरी, दोनों ही ले डूबेंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *