BMC सुस्त, जनता त्रस्त, विक्रोली का क्रांतिवीर महात्मा फुले सरकारी अस्पताल 3 वर्ष से बंद

krantiveer-mahatma-jyotiba-phule-hospital

अपने खजाने मे पचास हजार करोड़ से ज्यादा बैंक फिक्स डेपोसीट रखनेवाली मुंबई की महानगरपालिका के पास अचानक पैसों की बड़ी तंगी आ गई है | नेता, ठेकेदार और BMC अधिकारियों के बीच पैसा बाँटते-बाँटते उनके पास अब अस्पताल बनाने के लिए भी पैसा नहीं रहा | 

इस बात का ताजा उदाहरण है विक्रोली का क्रांतिवीर महात्मा फुले सरकारी अस्पताल | 4 मंजिल की ईमारत है | तीन वर्ष पहले महानगरपालिका ने इस अस्पताल के ईमारत का मरम्मत कराना तय किया | पहले दो फ्लोर बंद किया गया और कुछ दिनों बाद बाकी दो फ्लोर भी | लोगों को लगा छह महीने साल भर की बात होगी | बेहतर अस्पताल तैयार हो जाएगा | लेकिन यह बात मुंगेरीलाल के हसीन सपने की तरह निकली | साल बीता, दो साल बीता और अब तीसरा साल भी बीत गया, पर हुआ कुछ नहीं | यह तो भगवान को ही पता है कि इतनी देरी क्यों हो रही है ? कोई कहता है पैसा नहीं है ? कोई कहता है मजदूर मंगल ग्रह से आते हैं | सच क्या है किसको पता ?

और मजेदार बात बताता हूँ | महानगरपालिका ने इस 4 मंजिले अस्पताल की जगह 10 मंजिला अस्पताल बनाने का प्रस्ताव 2012 में पास किया था | उस प्रस्ताव का क्या हुआ, इस बारे मे तो महानगरपालिका के अधिकारी बात तक नहीं करते | इसके लिए भी पैसा नहीं होगा शायद | बेचारे गरीब महानगरपालिका कर्मचारी, ठेकेदार, नेताओं को बाँटने के बाद पैसा बचे तो अस्पताल बनेगा न ? वैसे भी हमारे भूतपूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जी ने कहा था कि पैसे पेड़ पर थोड़ी उगते हैं ! 

एक और मजेदार बात | महानगरपालिका में शिवसेना की सत्ता है, स्थानीय नगरसेवक और विधायक भी शिवसेना के | स्थानीय विधायक काफी सक्षम भी है, पूरा जोर लगाते तो शायद अस्पताल बन भी जाता | पर वो अपने कार्यकर्ताओं के गैरकानूनी निर्माण कार्यों को बचाने मे व्यस्त हैं | उम्मीद है समय मिलते ही अस्पताल बनाने जैसे गैर जरूरी काम पर भी उनका ध्यान जाएगा | 

यह मामला दबा ही रह जाता पर भाजपा के स्थानीय कार्यकर्ता सुधीर सिंह जी ने BMC कमिश्नर से इस बात की शिकायत की और मामला सोशल मीडिया मे पोस्ट कर दिया | मेरी नजर भी तभी इस मामले पर गई | सोचा आप लोगों की नजर मे भी यह मामला लाया जाए | शिकायत BMC कमिश्नर के पास गई है तो अब देखते हैं क्या होता है | आगे जो भी होगा इस मामले मे, आपको जानकारी देते रहूँगा | 

sudhir-singh-post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *