मनोज कोटक : नया सांसद, नई उम्मीद – ईशान्य मुंबई

manoj-kotak

अभी कुछ दिनों पहले समाप्त हुए लोकसभा चुनावों ने ईशान्य मुंबई को मनोज कोटक के रूप में एक नया सांसद दिया है | इस समय केंद्र में भी भाजपा की सरकार है | राज्य में भी भाजपा की सरकार है | मनोज कोटक भी भाजपा से ही हैं | ऐसे में स्थानीय लोगों की उम्मीदें उनसे काफी ज्यादा हैं |

मनोज कोटक सांसद बनने से पहले ३ बार नगरसेवक चुने जा चुके हैं | ऐसे में उन्हें राजनीति और समाज कार्य दोनों का तगड़ा अनुभव है | ज्यादातर नेता चुनाव के बाद एक लंबे समय तक आराम के मूड में रहते हैं | उन्हें सक्रिय होने में समय लगता है | लेकिन मनोज कोटक ने जो सक्रियता चुनाव के समय दिखाई थी, चुनाव के बाद भी उसी तरह सक्रिय है | फेसबुक में उनके आधिकारिक पेज https://www.facebook.com/ManojKotakBJP/ को देखने पर इस बात की साफ़ झलक मिलती है |

चुनाव जीते अभी कुछ दिन ही हुए हैं लेकिन उन्होंने भांडुप रेलवे स्टेशन को लाल बहादुर शास्त्री रोड से जोड़ने के लिए ईश्वर नगर के रास्ते एक नई सड़क के निर्माण के लिए काम शुरू कर दिया है | ३ जून को उन्होंने महानगरपालिका अधिकारी, पुलिस अधिकारी, स्थानीय विधायक और नगरसेवकों के साथ मिलकर उस क्षेत्र का निरिक्षण किया है | उम्मीद है यह काम जल्दी से जल्दी शुरू होगा | इस काम के होते ही भांडुप पश्चिम से भांडुप रेलवे स्टेशन की तरफ जानेवाले यात्रियों को काफी आराम मिलेगा | इसके अलावा पवई तालाब के पास वृक्षारोपण तथा सफाई अभियान में भी वो शामिल हुए हैं | रोज किसी न किसी जनसंपर्क अभियान में शामिल होकर वो बाकी नेताओं के लिए बढ़िया उदाहरण पेश कर रहे हैं |

मैं स्वयं उनके पास कुछ स्थानीय समस्याओं को लेकर जानेवाला हूँ | इससें तीन मुख्य समस्याएँ निम्नलिखित है :

  • लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पर फूटपाथ बनाने का काम चल रहा है | लेकिन यह फूटपाथ कई जगह खंडित है तो कई जगह कांट्रेक्टर ने पत्थर, मिटटी, पेवर ब्लाक के टुकड़े रख छोड़े हैं, तो कई जगह उन फूटपाथों पर अभी से अतिक्रमण हो चुका है | दक्षिण मुंबई में बने फूटपाथों से तुलना करने पर हमको पता चलता है कि किस तरह दोयम दर्जे का काम हुआ है |
  • मेट्रो के काम की वजह से लाल बहादुर शास्त्री मार्ग पूरी तरह जाम रहता है | मेट्रो के काम को गति देकर जल्दी से जल्दी रास्ता साफ़ किया जाए | २०१९ की वर्षा तो इस सड़क से गुजरने वालों के लिए भयंकर गुजरेगी ही | २०२० में भी ऐसा न हो, इसकी कोशिश करनी है |
  • कांजुर मार्ग पूर्व में बने डंपिंग के कारण कांजुर पूर्व तथा विक्रोली पूर्व के निवासियों का जीना दूभर हो गया है | सब लोग चाहते हैं कि इस डंपिंग ग्राउंड को हटाया जाए | मुझे पता है कि इस समस्या का समाधान मुश्किल है | लेकिन क्या पता मनोज कोटक इस समस्या को सुलझाने के लिए कोई दूरगामी उपाय खोज लें |

इसके अलावा कुछ छोटे-मोटे स्थानीय मुद्दे हैं | जो एक-एक कर उनके सामने ले जाऊँगा | इस दिशा में आगे जो भी प्रगति होगी, उसकी जानकारी पाठकों को देता रहूँगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *