नौसेना का कमांडर आय एस कुमार निकला साइकिल चोर

बीवी चोर सिक्योरिटी इंचार्ज सुरेश अवस्थी के बाद अब पढ़िए साइकिल चोर कमांडर आय एस कुमार की कहानी

Commandar I S Kumar
Commandar I S Kumar

अभी-अभी एक मजेदार घटना का पता चला है तो सोचा तुरंत आप लोगों को बता दूँ | डाकयार्ड का एक कर्मचारी जो किसी वजह से आज काम पर नहीं गया, ऐसे ही टाइम पास करने मुझसे मिलने आ गया था | बातों-बातों में काफी मजेदार चीजें बता गया है | उसे भी पता नहीं है कि मैं छापनेवाला हूँ लेकिन घटना मजेदार है | इसलिए आप लोगों के सामने हाज़िर है |

आप लोगों को तो पता ही है कि हमारी नौसेना के ज्यादातर अधिकारी भ्रष्टाचार के दलदल में आकंठ (गले तक) डूबे हुए हैं | सब एक से बढ़कर एक लूटेरे हैं जो देश की रक्षा की आड़ में अपनी तिजोरी भरने का काम कर रहे हैं | इस बार की घटना उससे भी एक कदम आगे हैं | नौसेना के अधिकारियों ने अब सीधे-सीधे चोरियाँ करनी भी शुरू कर दी है |

मामला नेवल डाकयार्ड मुंबई का है | वहाँ के AGM कमर्शियल के कार्यालय में, आय एस कुमार नाम के एक व्यक्ति कमांडर के पद पर कार्यरत हैं | एनकोड डिपार्टमेंट में ठेकेदारों से पैसा खा-खाकर इन्होनें खूब माल बनाया है | भूतपूर्व DGM कमर्शियल भूपेश अनुजा के कहने पर फर्जी बिलों पर कमीशन लेकर हस्ताक्षर किये हैं | लेकिन वो पैसा अब इन्हें कम पड़ने लगा है | इसलिए अब चोरियाँ शुरू कर दी हैं |

डाकयार्ड कॉलोनी कांजुर मार्ग पश्चिम मुंबई-७८ में रहनेवाले रामप्रवेश नामक व्यक्ति ने अपने डिपार्टमेंट की साइकिल DGM मटेरियल के पार्किंग में रखी थी | यह जगह एडमिरल सुपरिंटेंडेंट के कार्यालय के नीचे स्थित है | ४-५ दिन से साइकिल वहीँ पड़ी थी | कमांडर आय एस कुमार ने भी यह बात नोट किया कि साइकिल पार्किंग में पड़ी है | कोई ले जा नहीं रहा | अक्टूबर ८ को कुमार ने वो साइकिल चुपके से वहाँ से निकाल ली और अपने डिपार्टमेंट ( AGM कमर्शियल ) के स्टोर रूम में लेकर छुपा दी |

रामप्रवेश ने जब देखा कि साइकिल गायब है तो परेशान हो गया | उसने पता लगाया तो मालूम पड़ा कि साइकिल तो कमांडर आय एस कुमार चुरा ले गए हैं | ९ अक्टूबर को अपने चार्जमैन को लेकर वो AGM कमर्शियल के कार्यालय में पहुँचे | वहाँ सबसे पहले स्टोर रूम में पहुँचकर उन्होंने साइकिल की फोटो खींची | फिर AGM कमर्शियल के कार्यालय में पहुँच कर जोर से घोषणा की कि जिसने भी मेरा साइकिल चुराया है वो चुपचाप ले जाकर साइकिल पुरानी जगह रख दे नहीं तो LPM के पास चोरी की शिकायत की जायेगी | उसके बाद वो AGM कमर्शियल (मुझे अब तक इनका नाम नहीं पता) से भी मिले और उन्हें मामले की पूरी जानकारी दी |

जब से यह घटना सामने आई है तब से कमांडर आय एस कुमार किसी से बात नहीं कर रहे हैं | उनके कार्यालय में काम करनेवाले सिविलियन उनके पीछे चोर-चोर की आवाजें निकाल रहे हैं | कमांडर आय एस कुमार वैसे भी अपने काले कारनामों के लिए कुख्यात हैं | पिछले महीने (सितंबर २०१८) के अंत में उनके कार्यालय के ही विनोद सिंह नामक किसी सिविलियन ने उन्हें धमकी भी दी थी कि एडमिरल सुपरिंटेंडेंट संजीव काले और भूतपूर्व DGM कमर्शियल भूपेश अनुजा के साथ मिलकर उन्होंने जो CCTV घोटाला ( पुराने CCTV इनस्टॉल कर उन्हें नया CCTV दिखाना) किया है, उसकी शिकायत दिल्ली में कर वो उन्हें जेल भिजवा देगा | इस धमकी से नाराज होकर कमांडर आय एस कुमार ने विनोद सिंह की शिकायत AGM कमर्शियल से कर दी | मामला फिलहाल M Legal के पास है |

आजके लिए इतना ही काफी है | बाकी मसाला किसी और दिन | नौसेना के भ्रष्टाचार के मामलों की जानकारी के लिए पढ़ते रहिये ebharat.net | मुझसे संपर्क करके अपने विचार जरुर बताएँ | मेरा मेल है : [email protected]

One thought to “नौसेना का कमांडर आय एस कुमार निकला साइकिल चोर”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *