नेवल डाकयार्ड मुंबई से २० किलो चाँदी गायब, नौसेना के रियर एडमिरल संजीव काले ने मामले को दबाया

Rear Admiral Sanjeev Kale
Rear Admiral Sanjeev Kale

बात लगभग वर्ष भर पहले की है | जुलाई २०१७ या अगस्त २०१७ | नेवल डाकयार्ड मुंबई के सिस्टम डिपार्टमेंट, सेंटर क्र. ३७ के कंट्रोल सेल से अचानक २० किलो चाँदी गायब हो गई | यह चाँदी वेल्डिंग के लिए लाया गया था | आश्चर्य की बात है कि इतनी बड़ी मात्रा में चाँदी गायब हो गया वो भी नेवल डाकयार्ड मुंबई से | जिस जगह की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्वयं भारतीय नौसेना की हो वहाँ से चोरी ? बड़े आश्चर्य की बात है !

उससे बड़े आश्चर्य की बात यह है कि इस बात को एक वर्ष से ऊपर हो गया है किंतु अब तक न चोर का पता चला न ही पुलिस में इस मामले की कोई शिकायत दर्ज की गई |

चोरी की घटना का जैसे पता चला तो सिस्टम डिपार्टमेंट में हँगामा मच गया | इतनी चाँदी नेवल डाकयार्ड से बाहर गई कैसे ? वहाँ के सुरक्षा प्रबंध बहुत कड़े हैं | सिविलियन्स की इतनी कड़ाई से जाँच होती है कि सुई भी निकालना मुश्किल है | २० किलो चाँदी कहाँ से निकलेगा ? मैनें डाकयार्ड कर्मचारियों से बातचीत की तो पता चला की नौसेना के अधिकारियों की गाड़ियों को बिना जाँच के ही नेवल डाकयार्ड में आने-जाने दिया जाता है | एक संभावना तो बनती है | लेकिन फिर मैनें सिस्टम डिपार्टमेंट के ही एक कर्मचारी से बात की | तो उसने मुझे असली राज बताया |

जुलाई २०१७ या अगस्त २०१७ के आस पास ही कभी नौसेना के रियर एडमिरल तथा नेवल डाकयार्ड के उस समय के एडमिरल सुपरिंटेंडेंट संजीव काले की पुत्री का विवाह था | उस विवाह के लिए नेवल डाकयार्ड से कई चीजें बन कर गई | उन चीजों में से कुछ के निर्माण में इस चाँदी का उपयोग हो गया | अब काले जी ने पूरे मामले को कैसे दबाया यह तो पता नहीं | नौसेना के उच्च अधिकारियों को इस मामले के बारे में कुछ मालूम है या नहीं वो भी पता नहीं | पर इतना तो पक्का निश्चित है कि नेवल डाकयार्ड की सुरक्षा गलत हाथों में है |

सिस्टम डिपार्टमेंट के उसी कर्मचारी ने मुझे एक बात और बताई | किसी प्राइवेट कांट्रेक्टर से भी संजीव काले जी ने अपनी पुत्री के विवाह के समय बहुत सहायता ली थी | उस के बदले उन्होंने उस कांट्रेक्टर का नकली बिल पास करवाया है और इस काम में उनकी मदत कप्तान भूपेश अनुजा ने की है | पूरे मामले की जानकारी अब तक नहीं मिली है | कांट्रेक्टर का नाम भी पता नहीं चल पाया है | जल्दी ही पता लगाकर आप लोगों की जानकारी में लाऊँगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *